Sidebar Logo ×
होम /बिहार / औरंगाबाद

रेलवे ड्राइवर पत्नी हत्याकांड केस सॉल्व! पति ने ही रची थी हत्या की साजिश, पढिये पूरी ख़बर

औरंगाबाद पुलिस की तत्परता से इस केस को सिर्फ 14 दिनों के अंदर सॉल्व कर लिया गया है। पुलिस को भटकाने के लिए पति ने कैसे रची हत्या की साजिश, नीचे पढिये पूरी ख़बर

Aurangabad Now Desk

Aurangabad Now Desk

औरंगाबाद, Nov 15, 2021 (अपडेटेड Nov 15, 2021 3:15 PM बजे)

औरंगाबाद जिले के ओबरा थाना के भरूब में पिछ्ले 1 नवम्बर को गैंगरेप के बाद हत्या कर शव को नंगी हालत में छोड़ दिये जाने के दिल दहला देने वाले मामले का औरंगाबाद पुलिस ने पटाक्षेप कर दिया है। पुलिस के मुताबिक मामला गैंगरेप का था ही नही बल्कि मृतका के पति ने ही सारा नाटक रचा था। उसी ने पत्नी की गला दबाकर हत्या करने के बाद मामले को अलग रंग देने के लिए सारा नाटक रचा था।

क्या था पूरा मामला?

बता दें कि विगत 1 नवंबर को रेलवे के असिस्टेंट लोको पायलट(ALP) यानी रेल ड्राइवर की पत्नी की हत्या कर शव को नंगी हालत में छोड़ दिये जाने का दिल दहला देने वाला मामला प्रकाश में आया था।

मामला औरंगाबाद जिले के ओबरा थाना क्षेत्र के एक गांव का था। घटना का खुलासा मंगलवार (2 नवंबर) को सुबह में तब हुआ जब मृतका का शव उसके घर के बंद कमरे में नंगी अवस्था में पाया गया। 25 वर्षीय मृतका सुमन पटेल उर्फ बृजेश की पत्नी थी। मृतका की कोई संतान नहीं थी। मृतका अकेले ही अपने ससुराल में रह रही थी। प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार की सुबह प्रतिदिन की तरह जब वह अपने घर से बाहर नहीं निकली तो पड़ोस के ही गोतिया का चचेरा भतीजा रौशन कुमार ने गेट खुलवाने का प्रयास किया लेकिन गेट अंदर से बंद था और कोई आवाज नहीं दे रहा था। इसके बाद कॉल करने पर मृतका का मोबाईल भी स्वीच ऑफ बताया।

अनहोनी की आशंका जताते हुए लोग छत पर पीछे से कमरे में पहुंचे तो देखा कि मृतका की लाश नंगी हालत में पड़ी हुई थी और उसके गले पर काला निशान था। इसके बाद मामले की जानकारी परिवार के अन्य सदस्यों व ग्रामीणों को दी गई। यह देख परिजनों के होश उड़ गए। तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी गई। इसके बाद ओबरा थानाध्यक्ष पंकज कुमार सैनी सदल बल मौके पर पहुंचे। मामले की जानकारी ली। उस वक्त मौके पर ही ग्रामीणों व परिजनों ने आरोप लगाया था कि विवाहिता को अकेले पाकर उसके साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया है और इसके बाद उसकी हत्या कर दी गई है।

पति, सास और दोस्तों ने मिलकर दिया था घटना को अंजाम, पति गिरफ्तार

इस मामले में पुलिस ने रेल ड्राइवर पति को गिरफ्तार किया है। हालांकि घटना के वक्त ग्रामीणों एवं परिजनों ने  गैंगरेप के बाद हत्या किये जाने की आशंका जताई थी लेकिन मामले का खुलासा होने के बाद अब सबने चुप्पी साध ली है। पूरे मामले का खुलासा करते हुए औरंगाबाद के पुलिस कप्तान कांतेश कुमार मिश्रा ने बताया कि रिंकी देवी की हत्या अपराधियों ने नही बल्कि उसके पति सुमन पटेल, सास और दोस्त ने मिलकर की थी और घटना को अलग रंग देते हुए यह कहा था कि दुष्कर्म कर हत्या की गई।

पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच शुरू की तो सब कुछ सामने आ गया। अब मामले में मृतका रिंकी देवी के भाई आदित्य राज के आवेदन पर ओबरा थाना में भादवि की धारा-304(बी)/34 के तहत कांड संख्या-275/21 दर्ज किया गया है। मामले में मृतका के पति सुमन पटेल, सास लालवती कुंवर, सुमन पटेल के दोस्त सिकन्दर यादव, एवं अन्य अज्ञात को दहेज के लिए प्रताड़ित कर हत्या करने का आरोपी बनाया गया है। मृतका के पति सुमन पटेल को गुप्त सूचना पर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

अन्य आरोपी भी जल्द होंगे गिरफ्तार

अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस विभिन्न संदिग्ध ठिकानों पर लगातार छापेमारी कर रही है। पुलिस ने इस कांड के उद्भेदन के लिए एक टीम का गठन किया गया था। टीम में शामिल ओबरा थानाध्यक्ष पंकज कुमार सैनी सहित अन्य को पुस्कृत किया जाएगा। वही मृतका के पति ने भी मामले में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है। उसने स्वीकार किया है कि बच्चा नही जनने के कारण ही उसने इस कांड को अंजाम दिया और पुलिस को भरमाने के लिए सारा नाटक रचा।

Source: Liveindianews 18

औरंगाबाद, बिहार की सभी लेटेस्ट खबरों और विडियोज को देखने के लिए लाइक करिए हमारा फेसबुक पेज , आप हमें Google News पर भी फॉलो कर सकते हैं।
Subscribe Telegram Channel

Loading Comments