Sidebar Logo ×

ऑनलाइन हुई थी जहरीली शराब की डिलीवरी! 3 अंर्तराज्यीय कारोबारियों समेत 19 आरोपी गिरफ्तार

प्रेस वार्ता में SP श्री कांतेश मिश्रा ने बताया कि कारोबारियों ने एक ऑनलाइन वेबसाइट पर शराब की बुकिंग की थी। इस मामले में कर्तव्य में लापरवाही बरतने के आरोप में तीन पुलिसकर्मियों को भी निलंबित किया गया है। नीचे पढिये जहरीले शराब कांड की पूरी कॉन्सपिरेसी

Aurangabad Now Desk

Aurangabad Now Desk

औरंगाबाद, May 28, 2022 (अपडेटेड May 28, 2022 4:12 PM बजे)

मदनपुर प्रखंड में जहरीली शराब से मौतों के मामले में गठित विशेष अनुसंधान दल को बड़ी सफलता हाथ लगी है। अनुसंधान दल ने जहरीली शराब के मामले में तीन अंर्तराज्यीय कारोबारियों समेत नशे के 19 कारोबारियों को गिरफ्तार किया है। साथ ही साथ मामले में कर्तव्य में लापरवाही बरतने के आरोप में तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है। इनमें एक पुलिस पदाधिकारी एवं दो चौकीदार शामिल है। साथ ही अवैध शराब के खिलाफ अभियान लगातार जारी है। 

पुलिस कप्तान कांतेश कुमार मिश्रा ने शुक्रवार को प्रेसवार्ता में बताया कि मदनपुर थाना के  रानीगंज में जहरीली शराब के सेवन से दो लोगो की मौत की सूचना पर विशेष अनुसंधान दल का गठन किया गया। इसे लेकर तीन प्राथमिकी दर्ज की गई। मामले में तीन अंर्तराज्यीय शराब कारोबारियों समेत 19 धंधेबाजों को गिरफ्तार किया गया है।

ऑनलाइन की गई थी शराब की बुकिंग, आरोपियों को रिमांड पर लेकर होगी पूछताछ

गिरफ्तार लोगो में अंर्तराज्यीय कारोबारी राजेश यादव, संतोष चौधरी एवं रोहित सिंह को गया पुलिस ने गिरफ्तार किया है। तीनों को औरंगाबाद पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी। इन्ही कारोबारियों में से एक रोहित ने एक ऑनलाइन शॉपिंग पर शराब की बुकिंग की थी। इस मामले में ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी के खिलाफ भी संबंधित विभाग में शिकायत दर्ज कराई जा रही है।

इन्ही तीनों कारोबारियों ने रानीगंज, खिरियावां एवं अन्य स्थानों के स्थानीय अवैध कारोबारियों को शराब की डिलीवरी दी थी, जो जहरीला निकला और मौतें हुई। इसके अलावा गिरफ्तार अन्य धंधेबाजों में रानीगंज निवासी श्याम ठाकुर, लखन चौधरी, डीसीएम चौधरी, बसंतपुर निवासी अजय रिकियासन, चरैया निवासी सुकेश कुमार, विजय पासवान, सत्येंद्र पासवान, खिरियावां निवासी सुरज  साव, तेतरिया निवासी पंचम सिंह, उर्मिला देवी, रेखा देवी, मंदीप कुमार, सुधीर कुमार, शत्रुध्न पासवान, अजीत कुमार एवं सोनू कुमार शामिल है।

उन्होने कहा कि मामले में अबतक के अनुसंधान एवं तकनीकी आधार पर मदनपुर थाना में दर्ज कांड के गिरफ्तार अभियुक्त सुरज साव ने घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार करते हुए बताया है कि उसने जहरीली शराब के मुख्य कारोबारी राजेश यादव से सम्पर्क कर जहरीली शराब लाया एवं यहां बेचा था।

विशेष अभियान में अबतक 142 अभियुक्तों की हो चुकी है गिरफ्तारी, लापरवाही बरतने की वजह से 3 पुलिस कर्मियों को किया गया है निलंबित

इसके अलावा पिछले पांच दिनों में अवैध शराब के विरुद्ध विशेष अभियान में पुलिस ने 142 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। विशेष अभियान अभी भी जारी है।

साथ ही जहरीली शराब के मामले में कर्तव्य में लापरवाही बरतने के आरोप में एक पुलिस पदाधिकारी एवं दो चौकीदारों को निलंबित किया गया है। साथ ही अवैध शराब कारोबारियों की आसूचना हेतु सभी थानों में चौकीदारी परेड करायी जा रही है।

नशामुक्ति के लिए लगातार चलाया जा रहा है अभियान, माइकिंग के जरिये बताया जा रहा है शराब पीने से होने वाला नुकसान

सभी थाना क्षेत्रो में अवैध शराब के सेवन से होने वाले नुकसान को लेकर माईकिंग करायी जा रही है। वही खुद वें डीएम सौरभ जोरवाल के साथ शराब विरोधी जन जागरूकता अभियान चला रहे है। अबतक कुल 24 जगहों पर जन जागरूकता अभियान चलाया गया है। इसके अलावा सभी थानों की पुलिस द्वारा भी जनजागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। साथ ही उन्होंने डीएम के साथ संयुक्त आदेश के माध्यम से अवैध शराब के विरुद्ध विशेष अभियान हेतु दंडाधिकारियों के नेतृत्व में पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बलों की प्रतिनियुक्ति विभिन्न स्थानों पर की गयी है। विशेषकर सोन दियारा क्षेत्रों में अभियान चलाने हेतु निर्देशित किया गया है।

वही मई माह में अबतक अवैध शराब के विरुद्ध अभियान में कुल 206 अभियुक्तों की गिरफ्तारी की गयी है एवं 7286 लीटर शराब बरामद किया गया है। एसपी ने स्वीकार किया कि मामले में कुल 12 मौतें हुई है, जिनमें 8 का पोस्टमार्टम कराया गया है। शेष 4 का परिजनो ने पोस्टमार्टम कराये बिना ही दाह संस्कार कर दिया है।

Source: Liveindianews18

औरंगाबाद, बिहार की सभी लेटेस्ट खबरों और विडियोज को देखने के लिए लाइक करिए हमारा फेसबुक पेज , आप हमें Google News पर भी फॉलो कर सकते हैं।
Subscribe Telegram Channel
Loading Comments