Sidebar Logo ×
होम /बिहार / औरंगाबाद

इंतेजार खत्म! जिले के सदर अस्पताल में शुरू हो गयी RT-PCR जांच की सुविधा! नए प्रसव वार्ड का भी शुभारंभ

महीनों से लंबित RT-PCR जांच लैब को अब सदर अस्पताल में शुरू कर दिया गया है। इस लैब में प्रतिदिन करीब 1000 सैम्पल की जांच हो सकेगी पढिये पूरी ख़बर

सत्यम मिश्रा

सत्यम मिश्रा

औरंगाबाद, Jul 16, 2021 (अपडेटेड Jul 16, 2021 5:27 PM बजे)

सदर अस्पताल औरंगाबाद में आरटी पीसीआर जांच के साथ-साथ नये प्रसव वार्ड का शुभारंभ शुक्रवार को हो गया। जिला पदाधिकारी सौरभ जोरवाल एवं सिविल सर्जन डॉ कुमार वीरेंद्र प्रसाद द्वारा संयुक्त रूप से फीता काटकर दोनों इकाइयों का उद्घाटन किया गया।

इस क्रम में जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि आरटी पीसीआर लैब एवं प्रसव वार्ड का क्रियान्वयन बहुप्रतीक्षित था। आखिरकार वह दिन आ गया जब जिले में ही कोरोना के लिए आरटी पीसीआर की जांच होगी। अब सैंपल जिले से बाहर नहीं भेजा जाएगा। इस मुद्दे पर औरंगाबाद नाउ ने भी 22 मई को एक ख़बर प्रकाशित किया था। कोरोना की RT-PCR टेस्ट के लिए अब सैम्पल नहीं भेजना होगा गया! जिले में जल्द ही शुरू हो जाएगी जांच की सुविधा

जिले के लैब में प्रतिदिन लगभग एक हज़ार टेस्ट करने की क्षमता है। विदित हो कि कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच हेतु आरटी पीसीआर जांच की जाती है। इसकी व्यवस्था जिले में नहीं होने के कारण पहले पटना एवं गया के लैब में सैंपल भेजा जाता था। रिपोर्ट आने में हफ़्तों लग जाते थे किन्तु जिले में ही जांच की व्यवस्था होने से काफी सहूलियत होगी।

जिले में आरटी पीसीआर लैब का अधिष्ठापन सदर अस्पताल औरंगाबाद के रेड क्रॉस परिसर में कराया गया है। लैब के संचालन हेतु छः लैब टेक्नीशियन, चार स्टाफ नर्स, दो लिपिक एवं दो डाटा ऑपरेटर सहित कुल 16 कर्मचारी प्रतिनियुक्त किए गए हैं। जिले के संचारी रोग पदाधिकारी डॉ रवि रंजन इसके नोडल पदाधिकारी होंगे।

साथ ही साथ सदर अस्पताल औरंगाबाद के प्रसव वार्ड का विस्तारीकरण भी कराया गया है। नए प्रसव वार्ड एवं प्रसव कक्ष में कार्य शुरू हो गया। उक्त प्रसव कक्ष में तीन प्रसव बेड एवं वार्ड में 20 अतिरिक्त बेड की व्यवस्था की गई है।

सिविल सर्जन डॉ कुमार वीरेंद्र प्रसाद  द्वारा बताया गया की दोनों इकाइयों के क्रियान्वयन हेतु लगातार प्रयास किए जा रहे थे। जिले में मेरे पदस्थापन होने के बाद यह मेरी पहली उपलब्धि है। उन्होंने जिला कार्यक्रम प्रबंधक डॉ कुमार मनोज के कार्यों की सराहना किया तथा प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुए कहा कि हमारे पास युवा अधिकारियों की टीम है हम अपना सर्वश्रेष्ठ देने का प्रयास करेंगे।

इस अवसर पर अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ किशोर कुमार, जिला कार्यक्रम प्रबंधक डॉ कुमार मनोज, सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ विकास कुमार, डॉ लालसा सिन्हा, जिला लेखा प्रबंधक अश्विनी कुमार, डीपीसी नागेंद्र कुमार केसरी, जिला एपिडेमियोलॉजिस्ट उपेंद्र कुमार चौबे, केयर इंडिया के टीम लीडर रितेश कुमार एवं अलका भारती, यूनिसेफ के एसएमसी कामरान खान, अस्पताल प्रबंधक हेमंत राजन सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी, स्थानीय गणमान्य एवं मीडिया के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Source: Sonvarsha Vani

औरंगाबाद, बिहार की सभी लेटेस्ट खबरों और विडियोज को देखने के लिए लाइक करिए हमारा फेसबुक पेज , आप हमें Google News पर भी फॉलो कर सकते हैं।
Subscribe Telegram Channel

Loading Comments