Sidebar Logo ×
होम /बिहार / औरंगाबाद

अब जिले की सड़कें सुरक्षित नहीं, बीते 24 घंटे में ही बेखौफ अपराधियों ने की 2 बार गोलीबारी

जिले में अपराधियों का हौसला बुलंद है। कानून को ताक पर रखते हुए पिछले 24 घंटे में अज्ञात अपराधियों द्वारा जिले में 2 बार गोलीबारी की खबर आयी है। नीचे पढिये विस्तार से

Aurangabad Now Desk

Aurangabad Now Desk

औरंगाबाद, Nov 07, 2021 (अपडेटेड Nov 07, 2021 11:18 PM बजे)

स्टोरी हाइलाइट्स

पिछले 24 घंटे में जिले में 2 बार हो चुकी गोलीबारी की घटना

बाइक लूट के प्रयास में आज सनथुआ-जोगिया मोड़ के बीच NH 19 पर अपराधियों ने युवक को मारी गोली

कल देर शाम गोह थाना क्षेत्र में अपराधियों ने एक सरकारी शिक्षक को मारी थी गोली

औरंगाबाद की सड़कों पर चलना अब खतरे से खाली नहीं है। कब कौन अपराधी कहाँ से आकर गोली मार देगा कुछ कहा नहीं जा सकता। अपराधियों के हौसले बुलंद हैं और पुलिस-प्रशासन कितनी एक्टिव है इसका पता इसी बात से चल जाता है कि बीते 24 घंटे में जिले में दो जगहों पर गोलीबारी हुई जिसमें एक व्यक्ति की दुःखद मृत्यु हो गयी।

औरंगाबाद नाउ पर हम आपको निगेटिव खबरों से दूर रखने का प्रयास करते हैं लेकिन जब प्रशासन अपने कर्तव्यपथ से विमुख हो जाये तो सवाल करना ही पड़ेगा। पहले जानिए इन दोनों घटनाओं के बारे में फिर करेंगे बाकी बात।

घात लगाकर अपराधियों ने सरकारी शिक्षक को मारी गोली

पंचायत चुनाव के ड्यूटी में लगे शिक्षक की औरंगाबाद जिले के गोह में अपराधियों ने कल गोली मारकर हत्या कर दी। घटना औरंगाबाद जिले के गोह थाना मुख्यालय के गोह-रफीगंज बिलारू नाला पुल के पास शनिवार की देर शाम की है जहां घात लगाए अपराधियों ने शिक्षक जुबैर आलम की गोली मार कर हत्या कर दी।

बताया जाता है कि जुबैर आलम शनिवार की शाम करीब सात बजे पैदल ही बाजार (अपने पिता के टेलर शॉप) से घर जा रहे थे। पुल के समीप से चौथी बिगहा जाने वाले रास्ता के मोड़ के पास सशस्त्र हमलावरों ने पीछे से गर्दन में गोली मार दी जिससे वे सड़क किनारे गिर गए। थोड़ी देर के बाद गोह थाने की पुलिस गश्त गुजर रही थी तो स्थानीय लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने देखा कि एक व्यक्ति गिरा हुआ है। खून से लथपथ शिक्षक को गश्ती दल ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पहुंचाया। जैसे ही उन्हें बेड पर लिटाया गया, वैसे ही उनकी मौत हो गई।

मृतक के पिता ने बताया की स्कूल में छुट्टी रहने के कारण जुबैर दुकान पर भी कभी कभी बैठता था। वो दुकान बंद कर रात में 8 बजे घर जा रहा था तभी ये घटना घटी। उसका किसी से कोई लड़ाई झगड़ा नहीं था, वो तो सभी से मिल जुल कर रहता था।

घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय लोगों की भीड़ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में जमा हो गई। थानाध्यक्ष शमीम अहमद ने बताया कि अपराधियों ने गला के पीछे एक गोली मारी है। लोगों की काफी भीड़ को देखते हुए विधि व्यवस्था बनाए रखने के लिए दारोगा माधवेन्द्र प्रताप सिंह, दिनेश पासवान, एसपी सिंह, ओमप्रकाश यादव, कृष्णा कुमार सशस्त्र पुलिस बल के साथ मौजूद रहे। औरंगाबाद एसपी ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि पुलिस मामले की गम्भीरता से जांच कर रही है।

बाइक छिनने के प्रयास में नैशनल हाइवे पर अपराधियों ने युवक को मारी गोली, स्थिति नाजुक

आज शाम NH 19 (पहले NH 2) पर बारुण थाना क्षेत्र के सनथुआ जोगिया के बीच 3 अज्ञात अपराधियों ने बाइक सवार युवक से पिस्तौल के दम बाइक छीनने का प्रयास किया। युवक ने बहादुरी दिखाते हुए विरोध जताया तो अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दिया जिससे युवक बुरी तरह घायल हो गया है।

घायल युवक की पहचान अंबा थाना क्षेत्र के मुख्य शहर निवासी विनोद पासवान के 23 वर्षीय पुत्र विक्रम कुमार के रूप में हुई है। घायल विक्रम ने बताया कि वो रविवार को अपनी बहन को लेकर डेहरी में अपने बहनोई अमरजीत के यहां छोड़ने गया था। वहीं देर शाम अपने घर अंबा के लिए लौट रहा था तभी सनथुआ-जोगिया मोड़ के समीप घात लगाए 3 अपराधियों ने बाइक को हाथ देकर रुकवाया। उसके बाद बंदूक दिखा बाइक छोड़ जाने की बात कहा, युवक ने समझा कि नकली बंदूक है और झगड़ गया, जिसके बाद अपराधियो ने एक हवाई फायरिंग तो वहीं दो गोली उसके जांघों में दाग दिया, जिससे युवक क्षत बिक्षत हालात में जमीन पर गिर पड़ा।

गोली की आवाज़ सुन आस पास के लोग घटनास्थल पर दौड़े जिससे डरकर तीनों अपराधी बाइक छोड़ कर फरार हो गए।

इसकी जानकारी मिलते ही बारुण थानाध्यक्ष अपने दल-बल के साथ मौक़े पर पहुंचे और घायल युवक को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भेज दिया, वहीं चिकित्सकों ने युवक की गंभीर हालत देखते हुए बीएचयू में रेफर कर दिया है। पुलिस अधीक्षक कांतेश कुमार मिश्रा ने बताया कि अपराधियों को पकड़ने के लिए छानबीन की जा रही है, दोषी जल्द ही गिरफ्त में होंगे।

जिले में रोके नहीं रुक रहा है क्राइम, अपराधियों के हौसले हैं बुलंद

चाहे गोलीबारी की बात हो या शराब के अवैध कारोबार की, जिले में क्राइम का ग्राफ कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है। पुलिस की तमाम गस्तियों और पैट्रोलिंग के बाद भी अपराधी क्राइम को अंजाम दे रहे हैं।

खुली सड़कों पर आए दिन बेखौफ अपराधी गोलियों की बौछार कर रहें हैं। सितंबर में हुए चित्रगुप्त नगर हत्याकांड के वक्त भी हमनें प्रशासन से यह सवाल किया था कि छोटे मोटे चोरी करने वाले अपराधियों के पास भी पिस्टल और जानलेवा हथियार कहाँ से उपलब्ध हो पा रहा है?

पुलिस इन अवैध हथियारों के नेक्सस को नाकाम करने में असफल क्यों हो रही है? जब तक अपराधियों तक अवैध हथियार पहुंचता रहेगा ऐसी घटनाएं होती ही रहेंगी।

लोगों में प्रशासन के प्रति विश्वास और डर के माहौल को कम करने के लिए पुलिस प्रशासन को कड़े कदम उठाने पड़ेंगे ताकि अपराधियों में खौफ बढ़े और आये दिन होने वाले इस तरह की घटनाओं में कमी हो सके।

Source: Aurangabad Now

औरंगाबाद, बिहार की सभी लेटेस्ट खबरों और विडियोज को देखने के लिए लाइक करिए हमारा फेसबुक पेज , आप हमें Google News पर भी फॉलो कर सकते हैं।
Subscribe Telegram Channel

Loading Comments