Sidebar Logo ×
होम /बिहार / औरंगाबाद

उप विकास आयुक्त ने ली बाल विकास परियोजना पदाधिकारियों की समीक्षात्मक बैठक, दिए गए कईं निर्देश

सत्यम मिश्रा

सत्यम मिश्रा

औरंगाबाद, Jun 22, 2021 (अपडेटेड Jun 22, 2021 6:39 PM बजे)

समाहरणालय कक्ष में आज दिनांक 22-06-2021 को श्री अंशुल कुमार उप विकास आयुक्त, औरंगाबाद ने सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारियों की समीक्षात्मक बैठक ली और कई आवश्यक निर्देश दिए। मुख्य रूप से कोविड-19 के टीकाकरण के संबंध में अधिक से अधिक लोगों को जागरूक कर टीका लेने के लिए प्रेरित करने का निर्देश उप विकास आयुक्त द्वारा दिया गया।


उप विकास आयुक्त ने कल से प्रति वैक्सीनेशन साइट 300 टीकाकरण का लक्ष्य बाल विकास परियोजना पदाधिकारियों को दिया। साथ ही रंगोली, दीवार लेखन तथा सामाजिक टूरी का पालन कर पद यात्रा एवं छोटी-छोटी रैलियों का आयोजन कर कोविड-19 के टीकाकरण हेतु लोगों को जागरूक करने का निर्देश बाल विकास परियोजना पदाधिकारी को दिया।

उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के जिला परियोजना प्रबंधक को कोविड-19 के टीकाकरण से संबंधित बैनर/पोस्टर/पंपलेट बाल विकास परियोजना पदाधिकारी को उपलब्ध कराने का भी निर्देश दिया। उप विकास आयुक्त ने यह भी कहा कि कोविड-19 टीकाकरण के क्षेत्र में कार्य करने वाले सेविका, महिला एवं बाल विकास परियोजना पदाधिकारियों को पुरस्कृत भी किया जाएगा।

इसके अलावा अन्य विभागीय मुद्दों पर भी उप विकास आयुक्त द्वारा गहन समीक्षा की गई एवं निर्देश दिए गए। अनुग्रह अनुदान से संबंधित मामलों को 1 सप्ताह के अंदर निपटाने का आदेश बाल विकास परियोजना अधिकारियों को दिया गया। परवरिश योजना के अंतर्गत अनाथ, एचआईवी एवं कुष्ठ रोग से संक्रमित बच्चे/अभिभावकों का अधिक से अधिक आवेदन एकत्र करने का निर्देश दिया गया ताकि उन्हें आर्थिक लाभ दिया जा सके।

हल्के फुल्के मरम्मती वाले आँगनवाड़ी केंद्र भवन का प्राक्कलन मनरेगा के कनीय अभियंता से समन्वय स्थापित करने का निर्देश बाल विकास परियोजना पदाधिकारियों को दिया गया।

जिला प्रोग्राम पदाधिकारी, आईसीडीएस द्वारा बताया गया कि आंगनबाड़ी केंद्र भवन निर्माण हेतु कुल 172 भूखंड विभिन्न परियोजनाओं में बाल विकास परियोजना पदाधिकारी द्वारा चिन्हित कर दिया गया है जिसे संबंधित अंचलाधिकारियों को एनओसी के लिए पत्र लिखा गया है।

उप विकास आयुक्त द्वारा निर्देश दिया गया कि बृहस्पतिवार को अपर समाहर्ता के राजस्व की बैठक में इस विषय को रखें एवं अंचल अधिकारी एक सप्ताह के अंदर एनओसी दें।

इसके अलावा आंगनबाड़ी केंद्रों से दी जाने वाली सेवाओं की मॉनिटरिंग गृह भ्रमण के माध्यम से तथा SCA/MGNREGA तथा सीएसआर के तहत उत्क्रमित भवनों की समीक्षा भी इस  बैठक के मुख्य बिंदु थे।

इस बैठक में जिला प्रोग्राम पदाधिकारी, आईसीडीएस, जिला समन्वयक, NMM, सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी एवं जिला प्रोग्राम सहायक, PMMVY श्रीमती श्यामली कुमारी भी उपस्थित थीं।

Source: Aurangabad Now

औरंगाबाद, बिहार की सभी लेटेस्ट खबरों और विडियोज को देखने के लिए लाइक करिए हमारा फेसबुक पेज , आप हमें Google News पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Popular Search:

Subscribe Telegram Channel

Loading Comments