Sidebar Logo ×
होम /बिहार / औरंगाबाद

तमंचे पर बाइक लूट! एक ही महीने में दूसरी बार औरंगाबाद में हाइवे पर बाइक की छिनतई!

Aurangabad Now Desk

Aurangabad Now Desk

बारुण, औरंगाबाद, Nov 23, 2021 (अपडेटेड Nov 24, 2021 12:26 AM बजे)

हमनें 7 नवंबर को आपके इस औरंगाबाद नाउ पोर्टल पर एक ख़बर प्रकाशित की थी जिसमें आपको बताया था कि कैसे औरंगाबाद की सड़कों पर चलना अब सुरक्षित नहीं रह गया है। उस घटना को बीते हुए अभी 16 दिन भी नहीं हुए हैं कि दूसरी वैसी ही घटना सामने आ गयी।

इसे पढिये: अब जिले की सड़कें सुरक्षित नहीं, बीते 24 घंटे में ही बेखौफ अपराधियों ने की 2 बार गोलीबारी

ख़बर ये है कि औरंगाबाद के बारुण थाना क्षेत्र में रेलवे ओवरब्रिज के पास तीन की संख्या में आये अज्ञात अपराधियों ने बंदूक के दम पर बाइक लूट को अंजाम दिया है। लूट का अंदाज बिल्कुल वही जो 7 नवंबर को हुआ था - तीन की संख्या में अपराधी, बंदूक से फायरिंग और वही सड़क NH-19। फर्क सिर्फ इतना है कि पिछली बार पीड़ित की बहादुरी से अपराधी बाइक छिनने में कामयाब नहीं हो पाए थे और इस बार बाइक के साथ फरार हैं।

पहले जानिए पूरा मामला फिर करेंगे कुछ और बात

बारुण थाना क्षेत्र के रेलवे क्रॉसिंग पुल के समीप अज्ञात अपराधियो ने बाइक छिनने के नियत से दिनदहाड़े ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। इस घटना में बाइक सवार युवक गम्भीर रूप से घायल हो गया। युवक को दो गोली सिर और पैर में लगी है।

मिली जानकारी के अनुसार युवक की पहचान औरंगाबाद जिले के नवीनगर के बेलाई गांव के मुकुंद कुमार के रूप में हुई है। घटना के बाद मुकुंद का प्राथमिक इलाज़ बारुण के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (CHC Barun) में कराया गया।

घायल मुकुंद कुमार ने बताया कि वह औरंगाबाद से डेहरी की ओर जा रहा था। जैसे ही वह रेलवे ओवरब्रिज के पास पहुंचा अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। जिससे उसके पैर में गोली लग गयी। वही गाड़ी रुकने के बाद मुकुंद से अपराधियो ने बाइक छीनी और विरोध करने पर उसके माथे पर गोली चला दी। इसके बाद अपराधी अपाची बाइक लेकर फरार हो गये गए।

घटना के संबंध में थानाध्यक्ष धनंजय शर्मा ने बताया कि मामले को लेकर प्राथमिकी दर्ज कर अपराधी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

घायल युवक को देखने पहुंचे नवीनगर के राजद विधायक डब्ल्यू सिंह ने सरकार पर निशाना साधते हुये कहा कि आज जिला पूरी तरह से असुरक्षित है। क्राइम का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। जिसकी जिम्मेवारी पूरी तरह से बिहार सरकार को है। उन्होंने यह भी बताया कि जिस लड़के को रोजगार मिलना चाहिये था। उसे आज सरकार ने आज हथियार उठाने पर मजबूर कर दिया है।

प्रशासन से हमारा फिर वही सवाल, अपराधियों तक कैसे हो रही है असला- बंदूक की सप्लाई?

जब जब जिले में कोई आपराधिक वारदात होती है तब तब ये पता चलता है कि अपराधियों ने बंदूक या अवैध हथियार के दम पर क्राइम को अंजाम दिया। हमने हमेशा प्रशासन से ये सवाल किया है कि अपराधियों तक ये अवैध हथियार कैसे पहुंच रहे हैं? हालांकि औरंगाबाद पुलिस ने विगत कुछ दिनों पहले ही औरंगाबाद में अवैध हथियार फैक्ट्री का उद्भेदन किया था।

इसे भी पढ़ें: पुलिस के हत्थे चढ़ गए औरंगाबाद के कालीन भैया, बरामद हुआ है हथियारों का ज़खीरा

चाहे चित्रगुप्त नगर मर्डर केस हो या 6 और 7 नवंबर का वारदात, सभी में बंदूक के दम पर अपराधियों ने पुलिस-प्रशासन को ठेंगा दिखाया है। 

औरंगाबाद नाउ (Aurangabad Now) जिला प्रशासन से उम्मीद रखती है कि पुलिस इन अवैध हथियारों के नेक्सस को जल्द से जल्द नाकाम करेगी ताकि जिले में इस तरह की बढ़ रही आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लग सके और लोगों का प्रशासन पर भरोसा और मजबूत हो सके।

Source: Aurangabad Now

औरंगाबाद, बिहार की सभी लेटेस्ट खबरों और विडियोज को देखने के लिए लाइक करिए हमारा फेसबुक पेज , आप हमें Google News पर भी फॉलो कर सकते हैं।
Subscribe Telegram Channel

Loading Comments